भारत का सबसे भरोसेमंद ब्रांड

(गुली डंडा / मंडूसी / गेहूँ का मामा )

वक़्त बदला पर भरोसा नहीं - टोपिक

गुल्ली डंडा / मंडूसी आपकी गेहूँ की फसल को बड़ा नुकसान पहुंचाता है जिससे आपकी फसल की उपज में 30-40% कमी का सामना करना पड़ता हैं।

टोपिक 15 WP गेहूँ की फसल के लिए एक असरदार उत्पाद​ है जो मंडूसी की प्रबंधन के लिए एक चुनिंदा खरपतवारनाशक है​

टोपिक की ख़ूबियाँ

मंडूसी का नियंत्रण

गेहूँ की हरी भरी व भरपूर फसल

सुरक्षित और स्वस्थ मिट्टी

गेहूँ के साथ अन्य फसलों पर भी सुरक्षति है

सही मात्रा

160 ग्राम प्रति एकड़

सही समय

3-4 पत्तियों की अवस्था में (बुवाई के 30-35 दिन बाद)​

सही तरीका

ट्रैक्टर माउंटेड / नैपसैक स्प्रेयर - फ्लैट फान / फ्लड जेट नोजल के साथ

टोपिक - सफ़लता की परम्परा

अधिक जानकारी पायें....

आपकी जानकारी के लिए

सिफारिश शुदा मात्रा: 160 ग्राम प्रति एकड़।

3-4 पत्तियों की अवस्था में (बुवाई के 30-35 दिन बाद)।

टोपिक का इस्तेमाल पानी की सही मात्रा के साथ ट्रैक्टर माउंटेड / नैपसैक स्प्रेयर

– फ्लैट फान / फ्लड जेट नोजल के साथ इस्तेमाल किया जा सकता है।

टोपिक का छिड़काव खरपतवार के प्रकोप की गंभीरता (मंडूसी की

सहनशीलता के स्तर) के आधार पर एक या दो बार करने का सुझाव दिया जाता है।

टोपिक का इस्तेमाल सभी मौसमों में किया जा सकता है और असरदार भी है।

टोपिक का सुझाव मंडूसी पर नियंत्रण के लिये दिया जाता है (मंडूसी / गुल्ली डंडा

/ गेहूँ का मामा) – जो गेहूँ की फसल का मुख्य खरपतवार है।

 

भारत में, टोपिक का सुझाव सिर्फ गेहूँ की फसल में मंडूसी के लिये सिफारिश है।

टोपिक चुनें - सफलता और भरोसे की परंपरा !

अधिक जानकारी के लिए कृपया फॉर्म भरें

अपने खेत के खरपतवार को पहचानें

क्या अभी भी आप खरपतवार के प्रकारों को लेकर दुविधा में हैं? वे कैसे दिखते हैं और उनकी पहचान कैसे की जाती है? खरपतवार पहचान के सेक्शन में जाकर सही फैसला लें।

टोपिक - आपका एकमात्र चुनाव

पता

सिंजेंटा इंडिया लिमिटेड सर्वे नं – 110/11/3, अमर पैराडाइम होटल सदानंद के पास, बानेर रोड पुणे – 411045, महाराष्ट्र, भारत

© Copyright 2020 Syngenta India Limited. All right reserved.

COMING SOON